एक तरफ जहां दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर लोगों को सोने नहीं दे रही है वही राजधानी दिल्ली में जरूरी दवाइयों की अवैध बिक्री व कालाबाजारी लोगों ( People of Delhi ) की जान के साथ खिलवाड़ कर रही है आपको बता दें कि जहां दिल्ली में ऑक्सीजन बेड और अस्पतालों में संकट मौजूद है वहीं अब दिल्ली में दवाइयों का संकट भी साफ देखने को मिल रहा है।

यह भी पढ़े : छत्तीसगढ़ : सीएम भूपेश बघेल का सराहनीय कार्य, लखनऊ के मेदांता अस्पताल के लिए रायपुर से भेजा ऑक्सीजन टैंकर 

People of Delhi

इस संकट का कारण यह है कि दिल्ली में दवाइयों की जमाखोरी और कालाबाजारी बढ़ती जा रही है हालात को देखते हुए दिल्ली एनसीआर की पांच केमिस्ट एसोसिएशन ने अपने सदस्यों को नोटिस जारी कर सतर्क रहने के लिए कहा है लेकिन केवल इस कदम से कालाबाजारी कितना रुक जाएगी यह तो वक्त ही बताएगा।

Chemist association ने खरीददारों को आगाह करने वाले नोटिस में यह भी कहा है कि जब खरीददार डॉक्टर का लिखा पर्चा और आधार कार्ड दिखाएं तभी उन्हें सेमडेसिविर जैसी दवा उपलब्ध कराई जाए ताकि कालाबाजारी पर अंकुश लगाया जा सके।

यह भी पढ़े : छत्तीसगढ़ : सीएम भूपेश बघेल का सराहनीय कार्य, लखनऊ के मेदांता अस्पताल के लिए रायपुर से भेजा ऑक्सीजन टैंकर 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दिल्ली के द्वारका सेक्टर 6 में फार्मेसी की दुकान करने वाले सुरेश यादव का इस मामले पर कहना है कि दवाइयों की सप्लाई पर बहुत असर पड़ा है क्योंकि दवाओं के स्टाफ को अस्पतालों और कोविड केंद्रों के पास की दुकानों के लिए भेज दिया गया है।

Follow Us