मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के चलते कई लोगों की जान खतरे में है वहीं कई मौत के घाट उतार चुके हैं आपकी जानकारी के लिए बता दें की बढ़ती मौतों के आंकड़ों को देखते हुए SDM ने धार जिले में श्मशान घाटों पर शिक्षकों की ड्यूटी लगाने का आदेश ( Order ) दे दिया था जिसके बाद जिम्मेदारों को आदेश निरस्त करना पड़ा।

यह भी पढ़े : उत्तराखंड: मरीजों की जान बचाने के लिए 64 पुलिसकर्मी करेंगे प्लाज़्मा डोनेट 

Order

मिली जानकारी की माने तो शिक्षक संघ ने इस आदेश का कड़ा विरोध किया था जिसके बाद फैसला निरस्त करने का आदेश ( Order ) दिया गया, इस बात की पुष्टि स्वयं धार जिले के कलेक्टर आलोक कुमार सिंह ने की है उन्होंने कहा कि अब मनावर में शिक्षक की ड्यूटी श्मशान घाट पर अस्थि विसर्जन और अंतिम संस्कार के लिए नहीं लगाई जाएगी।

यह भी पढ़े : उत्तराखंड: मरीजों की जान बचाने के लिए 64 पुलिसकर्मी करेंगे प्लाज़्मा डोनेट 

क्या था मामला ?

दरअसल, जिले के मनावर के एसडीएम ने एक आदेश जारी करते हुए घाट पर 8 शिक्षकों की ड्यूटी शवों के अंतिम संस्कार और अस्थि विसर्जन के लिए लगा दी थी. इस खबर को जब जी मीडिया ने दिखाया तो शिक्षक संघ इस फैसले के विरोध में उतर आए. शिक्षक संघ ने कहा मनावर एसडीएम का यह फैसला कही से भी तर्गसंगत नहीं है.

Follow Us