भारतीय मूल की अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला के नाम से नासा ने सिग्नस स्पेशशिप को लॉन्च कर दिया है। कल्पना चावला भारतीय मूल की पहली महिला अंतरिक्ष यात्री हैं। 

 

 

अमेरिकी कमर्शियल स्पेस कंपनी नॉर्थरोप ग्रुमैन ने आईएसएस की जरूरत की चीजें पहुंचाने वाले अपने स्पेसक्राफ्ट का नाम कल्पना चावला के नाम पर रखा। बताया यह जाता है कि अंतरिक्ष यान अमेरिका के समयनुसार शुक्रवार रात को लॉन्च हुआ तब भारत में सुबह के 6:45 बज रहे थे। यह यान ISS पर 3628 किलोग्राम समान लेकर गया है। 

.

अंतरिक्ष यान के लॉन्चिंग के मौके पर उनके पति जॉन हैरिस ने कहा यह गर्व का क्षण है, उनकी पत्नी के नाम पर रखे रॉकेट ने आज उड़ान भरी। 

 

 

एसएस कल्पना चावला स्पेसशिप की लॉन्चिंग को दो बार टाला जा चुका है। अमेरिकन एयरोस्पेस कंपनी नार्थरोप ग्रुमैन के इस कार्गो स्पेसशिप को शुक्रवार को लॉन्च किया जाना था। हालांकि लॉन्चिंग के 2 मिनट 40 सेकंड पहले इसके ग्राउंड स्पोर्ट इक्विपमेंट में खराबी आने की वजह से ऐसा नहीं हो सका। इससे पहले 29 सितंबर को मौसम के खराब होने की वजह से लॉन्चिंग नहीं हो सकी। 

 

 

क्या है खासियत

स्पेसक्राफ्ट आईएसएस पर कार्गो डिलीवरी करने के साथ ही वहां फायर एक्सपेरिमेंट करेगा। इससे माइक्रोग्रैविटी में आग लगने की क्षमता परखी जाएगी। इसके साथ ही इसमें स्पेस टॉयलेट भी भेजा जा रहा है। इस 2.3 करोड़ के कमोड को भविष्य के इस्तेमाल के लिए टेस्ट किया जाएगा। 

 

 

 

इसके साथ ही मूली उगाने के पौधे भी भेजे गए हैं। रिसर्चर्स अलग-अलग मिट्टी और रोशनी डालकर इस पौधों को उगाने की कोशिश करेंगे इनका स्वाद लेंगे। यह सब इसलिए है जिससे स्पेस में पौष्टिक और बेहतर खाना मिल सके। 

Follow Us