प्रसिद्ध शास्त्रीय संगीत गायक पंडित जसराज(90) का अमेरिका के न्यू जर्सी में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। पंडित जसराज संगीत के मेवाती घराने से ताल्लुक रखते थे। उन्होंने 14 वर्ष की आयु में प्रशिक्षण शुरू किया। उन्होंने शुरुआती शिक्षा पंडित मोतीराम से ली हैं। 22 साल की उम्र में उन्होंने पहले स्टेज कॉन्सर्ट किया था। पंडित जसराज को पद्मविभूषण, पद्मभूषण, पद्मश्री से नवाजा गया था।

music legend; pandit jasraj passes away the india rise news


■ परिवार और बच्चे

उन्होंने हरियाणा के हिसार से नाता रखने वाले पंडित जसराज ने फिल्म निर्देशक की बेटी शांताराम से विवाह किया था। उनके दो पुत्र और एक पुत्री है।

■  दुर्गा जसराज ने की पुष्टि

पंडित जसराज की बेटी दुर्गा जसराज ने खबर की पुष्टि की है “बड़े दुख के साथ हमें यह सूचित करना पड़ रहा है कि संगीत मार्तण्ड पंडित जसराज ने अमेरिका के न्यू जर्सी में सुबह 5:15 बजे आखिरी सांस ली।

■ पीएम मोदी ने ट्वीट कर जताया दुख 

शास्त्रीय संगीत सम्राट के निधन पर पीएम मोदी ने ट्वीट कर दुख जताया। पीएम ने पंडित जसराज की फोटो शेयर करते हुए लिखा कि “पंडित जसराज जी के निधन से भारतीय संस्कृतिक क्षेत्र में एक खालीपन आ गया है। न केवल उनकी प्रस्तुतियां उत्कृष्ट थीं, उन्होंने कई अन्य गायकों के लिए एक असाधारण गुरु के रूप में अपनी पहचान बनाई। दुनियाभर में मौजूद उनके प्रशंसकों और परिवार के प्रति संवेदना। ॐ शांति”

music legend; pandit jasraj passes away
अपडेट……….

■ ब्रह्मांड में जगह बना चुके थे पंडित जसराज

पिछले साल सितंबर में इंटरनेशनल एस्ट्रोनॉमिकल यूनियन IAU ने मंगलवार और बृहस्पति के बीच पाए जाने वाले ग्रह का नाम पंडितजसराज रखा था। यह ग्रह 2006VP322006 में खोजा गया था। पंडित जसराज पहले ऐसे संगीतकार थे जिन्होंने अपनी अंतरिक्ष में जगह बनाई थी।

■ हनुमान जयंती पर दी थी आखिरी प्रस्तुति 

पंडित जसराज ने आखिरी प्रस्तुति 9 अप्रैल को अपने 90वां जन्मदिन मनाते हुए दी थी। उन्होंने यह प्रस्तुति फेसबुक लाइफ के जरिए वाराणसी के संकटमोचन के हनुमान मंदिर के लिए दी थी।

■ 80 साल तक जुड़े रहे संगीत से

पंडित जासराज ने अपने जीवन के 80 साल संगीत के साथ बिताए हैं। शास्त्रीय और अर्धशास्त्रीय स्वरों के उनके प्रदर्शनों को एल्बम और फिल्म साउंड ट्रैक के रूप में भी बनाया गया था। जसराज जी के भारत, अमेरिका और कनाडा में शिष्य हैं।

■ दिलों में जिंदा रहेंगे जसराज 

राष्ट्रपति समेत कई नेताओं ने पंडित जसराज के निधन पर शोक जताया है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि “आपकी जादुई आवाज ने शास्त्रीय संगीत को समृद्ध किया है।”उन्होंने ट्वीट में आगे लिखा “संगीत मार्तंड पंडित जसराज जी एक अविश्वसनीय कलाकार थे जिन्होंने अपनी जादुई आवाज से भारतीय शास्त्रीय संगीत को समृद्ध किया। उनका निधन व्यक्तिगत क्षति की तरह लगता है। वह अपनी बेमिसाल रचनाओं के माध्यम से हमारे दिलों में हमेशा के लिए जिंदा रहेंगे। उनके परिवार और अनुयायियों के प्रति संवेदना। ओम शांति”

music legend; pandit jasraj passes away


music legend; pandit jasraj passes away

Follow Us