द इंडिया राइज
लॉकडाउन में बरेली के प्रगतिशील किसानों ने लोकल से वोकल होने का सफर शुरू कर दिया है। किसानों ने बिथरी चैनपुर के गांव रहपुरा गिरधारीपुर में फार्मर प्रोड्यूसर ऑर्गेनाइजेशन बनाया है। यह आर्गेनाइजेशन जैविक तरीके से फल, सब्जी और फसलों की खेती करेगा। इसकी मदद से किसानों की तैयार फसल खेत से सीधे घर और बाजारों तक पहुंचेगी। किसान किसी भी सीजन में बीज, खाद और सिंचाई के लिए परेशान नहीं होंगे।

यूपी का पहला आर्गेनिक फार्मर प्रोड्यूसर आर्गेनाइजेशन रोटरी क्लब के पूर्व गवर्नर पीपी सिंह और उनकी टीम ने बनाया है। पीपी सिंह ने बिथरी चैनपुर के गांव रहपुरा गिरधारीपुर में यूपी का पहला बर्थ-डे गार्डन बनाया है। फलों के साथ सब्जियों की खेती कर रहे पीपी सिंह ने शहर से मिले जबरदस्त रेस्पांस के बाद लॉकडाउन में गांव के किसानों के साथ बैठक करके फार्मर प्रोड्यूसर आर्गेनाइजेशन बनाया। अब तक इसमें 10 किसान शामिल हो चुके हैं। इस हफ्ते 10 और किसानों को जोड़े जाने की तैयारी है। पीपी सिंह ने बताया कि एक आर्गेनाइजेशन में 20 से 30 किसानों को शामिल किया जाएगा।

ऑर्गेनिक तरीके से खेती करेंगे सभी किसान
पीपी सिंह ने बताया कि उन्होंने बर्थडे गार्डन के साथ सब्जियों की खेती के लिए फार्मी ग्रीन संस्था बनाई है। यह संस्था जैविक तरीके से सब्जी उगाकर शहर के 40 परिवारों तक पहुंचा रही है। शहर के लोगों के जबरदस्त रेस्पांस को देखते हुए इलाके के किसानों को जैविक खेती के लिए प्रेरित करने को लॉकडाउन में फार्मर प्रोड्यूसर आर्गेनाइजेशन बना ली।

खाद बीज और पानी की नहीं होगी कमी
आर्गेनाइजेशन किसानों को खाद, बीज और पानी की कमी नहीं होने दी जाएगी। किसानों को सब्ज और फसलों के उन्नत बीज दिए जाएंगे। हर खेत तक ऑर्गेनिक खाद पहुंचाना थी आर्गेनाइजेशन की जिम्मेदारी होगी। यानी किसानों को बीज और खाद की दुकानों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे।

खेतों से घर और बाजार तक पहुंचेंगी सब्जियां
सबसे अच्छी बात है कि किसानों की सब्जी और फलों की मार्केटिंग व बिक्री का जिम्मा आर्गेनाइजेशन का होगा। सब्जियां और फसलें और फल अच्छी कीमत पर खेतों से सीधे बाजार या घरों तक पहुंचेंगे। किसानों को मंडी और क्रय केन्द्रों की दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी।

योगी सरकार को भेजा जाएगा आर्गेनिक फार्मिंग मॉडल
बरेली में पहले से कुछ फार्मर प्रोड्यूसर ऑर्गेनाइजेशन चल रहे हैं। मगर, यह मंडल का पहला आर्गेनिक फार्मर प्रोड्यूसर ऑर्गेनाइजेशन होगा। इस मॉडल के सरकार भी किसानों की आर्थिक मदद करेगी। पीपी सिंह ने बताया कि काम शुरू होने के बाद वह योगी और मोदी सरकार को आर्गेनिक फार्मिग मॉडल भेजेंगे। जिससे बरेली के साथ दूसरे जिलों में भी जैविक खेती को बढ़ावा मिल सके।

हमने लॉकडाउन में ऑर्गेनिक फार्मर प्रोड्यूसर ऑर्गेनाइजेशन बनाया है। एक आर्गेनाइजेशन में हम 30 लोगों को जोड़ेंगे। हमारी कोशिश है कि बिथरी और आसपास के इलाकों में हम शुरुआत में 10 ऐसे आर्गेनाइजेशन बनाएं। इससे किसानों की आमदनी बढ़ेगी और गांव खुशहाल होंगे।
–पीपी सिंह, पूर्व रोटरी गवर्नर

Follow Us