जियोमार्ट अपनी लॉन्चिंग के दो महीने के भीतर ही जियोमार्ट देश के ऑनलाइन ग्रोसरी सेगमेंट में ग्राहकों की पहली पसंद बन कर
उभरा है। कंपनी ने कुछ दिन पहले ही गूगल प्ले स्टोर और एप्पल ऐप स्टोर पर जियोमार्ट-ऐप लॉन्च किया था।लांच के दो
महीने बाद जियोमार्ट-ऐप, गूगल प्ले स्टोर से 10 लाख से अधिक बार डाउनलोड हो चुका है। ऐप्स की रैकिंग करने वाली
दुनिया की प्रतिष्ठित कंपनी ऐप-एनी के अनुसार, जियोमार्ट ऐप, ओवरऑल शॉपिंग श्रेणी में भी झंडे गाड़ रहा है। यह
इंडियन रैंकिंग में ऐप्पल ऐप स्टोर में दूसरे और गूगल प्ले स्टोर पर तीसरे स्थान पर पहुंच गया है।

2.5 लाख से ज्यादा का प्रतिदिन आर्डर
जियोमार्ट पर प्रतिदिन के हिसाब से 2.5 लाख ऑर्डर बुक किए जा रहे हैं। ऑर्डर की यह संख्या ऑनलाइन ग्रोसरी सेगमेंट
में सबसे अधिक है। ऑर्डरों की संख्या में लगातार इजाफा भी हो रहा है। सोडेक्सो कूपन का इस्तेमाल करने वाले ग्राहक,
जियोमार्ट पर इसका इस्तेमाल कर भुगतान कर पा रहे हैं। इसका फायदा ग्राहको के साथ जियोमार्ट, दोनों को मिल रहा
है।

12 करोड़ किसानों को जोड़ा जाएगा
रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने हाल ही में Facebook के साथ डील की घोषणा करते हुए किराना के
अलावा इलेक्ट्रॉनिक्स, फैशन, फार्मास्युटिकल और हेल्थकेयर के क्षेत्रों में भी उतरने की बात कही थी। जिओ मार्ट से देश के 12 करोड़ किसानों और 3 करोड़ किराना दुकान मालिकों को जोड़ा जाएगा।

कैसे करें आर्डर
किराना मंगाने के लिए कस्टमर को ऐप इंस्टॉल करने के बाद प्लेटफ़ॉर्म पर आईडी बनाकर लॉग-इन करना होगा। इसका
यूजर इंटरफेस ग्रोफर्स और बिग-बास्केट जैसे ऐप की तरह ही है। यूज़र्स को पिन कोड डालकर अपना एरिया चुनना होगा।
इसके बाद सामान को कार्ट में ऐड कीजिए, एड्रेस डालिए और पेमेंट करके चेकआउट कीजिए। प्लेटफॉर्म पर किराना के
सामान के साथ-साथ डेरी प्रोडक्ट, फल और सब्ज़ी भी मौजूद हैं।

किन शहरों में उपलब्ध है जियो मार्ट
रिलायंस जियो की दी हुई जानकारी के मुताबिक़, जियो मार्ट देश के करीब 200 शहरों में मौजूद है। हालांकि दिल्ली और
मुंबई जैसे महानगरों के अलावा कहीं और जियो मार्ट की सर्विस नहीं दिखी। यहां तक कि लखनऊ और पटना में भी सर्विस
नहीं मौजूद है। शायद जियो मार्ट अभी सिर्फ़ महानगर और उनके आस-पास के इलाक़ों में ही है।

जिओ मार्ट बनेगी ग्रॉसरी स्पेस में मार्केट लीडर
वैश्विक ब्रोकर हाउस गोल्डमैन-सैक्स की रिपोर्ट के अनुसार रिलायंस की फेसबुक के साथ साझेदारी के परिणामस्वरूप
कंपनी ऑनलाइन ग्रॉसरी स्पेस में मार्केट लीडर बन सकती है। 2024 तक कंपनी देश के पास 50 प्रतिशत मार्किट
हिस्सेदारी होने की संभावना है।

Follow Us