क्या आप Software Engineer बनना चाहते हैं। अगर आप जानना चाहते हैं कि Software Engineer कैसे बनें तो आप इस पोस्ट को जरूर पढ़ें। इस पोस्ट में Software Engineer कैसे बनें। इसके बारे में आपको हम डिटेल में आपको बताएंगे। इस आर्टिकल में Software Engineering से रीलेटेड हर तरह की जानकारी इसमे समावेश की गई है। जोकि आपके लिए बहुत मददगार साबित होगी।

यह भी पढ़ें : कैसे खोलें खुद का कोचिंग सेंटर 

Software Engineer कैसे बने 

 अगर आप software engineer बनना चाहते हैं, तो आपकी कंप्यूटर साइंस में रुचि होनीं चाहिए। Software Engineer बनने के लिए आप कंप्यूटर साइंस या इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी से रीलेटेड कोर्स कर इस फील्ड में एंट्री कर सकते हैं। कोर्स कम्पलीट करने के बाद आपको इंटर्नशिप करनी होती है।

इंटर्नशिप के दौरान ईमानदारी और मेहनत से काम करना चाहिए। अगर आपका हुनर, ईमानदारी और मेहनत आपके बॉस को पसन्द आ गई तो आपको जॉब भी ऑफर कर सकते हैं। आजकल बहुत से लोग इंटर्नशिप के दौरान ही जॉब पा जाते हैं। इसलिए इंटर्नशिप के दौरान ज्यादा से ज्यादा प्रैक्टिकल नॉलेज सीखे। इंटर्नशिप पूरी होने के बाद आप जॉब के लिए IT और सॉफ्टवेयर डेवलपर कंपनी में जॉब की तलाश कर सकते हैं।

इसके लिए अच्छा सा रिज्यूम बनाये और अपनी कंम्यूनकेशन स्किल्स का स्ट्रांग करें। कंप्यूटर लैंग्वेज और इंग्लिश भाषा पर अच्छी पकड़ बनाये। इंटरव्यू की अच्छी तैयारी करें। जिस भी कंपनी में इंटरव्यू देने जाएं उससे पहले उस कंपनी की वेबसाइट पर जाकर उसके बारे में जानकारी कर लें। अक्सर इंटरव्यू में ये क्वेश्चन जरूर पूछा जाता है। कि आप कंपनी के बारे में क्या जानते हैं।

आज के समय मे बहुत से लोग Software Engineering में डिग्री, डिप्लोमा किये बेरोजगार घूम रहे है। इसका कारण ये है कि उनके अंदर वो सारी जारी स्किल्स नही है जोकि Software Engineer के लिए जरूरी होती हैं। न तो उनको कंप्यूटर लैंग्वेज की अच्छी समझ होती है और न ही कंम्यूनकेशन स्किल स्ट्रांग होती हैं। यंहा मैं आपको Software Engineer के लिए कुछ आवश्यक स्किल्स बता रहा हूँ। अगर आप इन पर ध्यान देंगे, तो आप आसानी से सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन सकेंगे।

   Software Engineer करने के कोर्स   

  • B.Tech – Bachelor Of Technology (CS, IT)
  • B.C.A. – Bachelor Of Computer Application
  • B.Sc – Bachelor Of Science (CS)
  • Polytechnic Diploma (Computer Science)

  Software Engineer के यूनिवर्सिटी   

  • देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी, इंदौर
  • नेताजी सुभाष इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, दिल्ली
  • मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज, चेन्नई
  • द ऑक्सफोर्ड कॉलेज ऑफ साइंस, बैंगलोर
  • गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी, दिल्ली
  • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय
  • नालंदा ओपन यूनिवर्सिटी
  • लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी

इसके अलावा देश के सभी राज्यों में इंजीनियरिंग कॉलेज और IIT कॉलेज में प्रवेश के लिए कई Exam करवाई जाती है जैसे- JEE Main, JEE Advance, BitSet, AIEEE, VITEEE यह सभी National Level की परीक्षाये है। इन परीक्षाओं को पास करके आप एक अच्छे कॉलेज में प्रवेश प्राप्त कर सकते है जो हर साल आयोजित करवाई जाती है।

1.प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखे

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बननें के लिए कंप्यूटर की भाषाओं का ज्ञान होना आवश्यक है,  जैसे  C लैंग्वेज , C++ , Java , पाईथन , सी शार्प इत्यादि, क्योंकि सॉफ्टवेयर का निर्माण इन्ही भाषओं के माध्यम से किया जाता है, कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग , बीसीए  , बैचलर ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी  जैसे डिग्री कोर्सेज में यह सभी भाषाए सिखाई जाती है |

2. प्रोग्रामिंग लॉजिक पर विशेष महत्व

यदि आप एक प्रोफेशनल सॉफ्टवेयर डेवलपर बनाना चाहते है, तो इसके लिए आपको अपने लॉजिक को बेहतर बनाना होगा, क्योंकि कंप्यूटर में बननें वाले सभी सॉफ्टवेयर में लॉजिक लगाना होता है, इसके लिए बैचलर डिग्री जैसे की कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में आपको अलग से लॉजिक बिल्डिंग का कोर्स होता है, जिसकी सहायता से आप अपने लॉजिक को इम्प्रूव कर सकते है |

3.सॉफ्टवेयर बनाना सीखे

कंप्यूटर भाषा का ज्ञान प्राप्त करनें के पश्चात, आपको सॉफ्टवेर को बनानें का प्रयास करना चाहियें,  इससे आपके अन्दर कोडिंग से सम्बंधित स्किल्स विकसित होगी और आप यह  समझ पाएंगे  कि, एक सॉफ्टवेयर कैसे बनता है, तथा सॉफ्टवेयर बनानें के लिए किन बातों का ध्यान रखना आवश्यक है |

यह भी पढ़ें : क्या है सुकन्या समृद्धि योजना ? जानिए योजना के फायदे? 

4.इंटर्नशिप करे

यदि आपने कंप्यूटर साइंस में डिग्री पूर्ण कर लिया है ,इसके पश्चात आपको छोटे सॉफ्टवेयर बनाना आ गया , तो आपको किसी कंपनी में एक फ्रेशेर इंटर्नशिप के लिए जाना चाहिए , इससे आपको समझ पाएंगे कि सॉफ्टवेयर किस तरह बनता है ? और आपकी कोडिंग स्किल्स और अधिक इम्प्रूव होती चली जाएगी , इसके साथ ही आपको सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट में अनुभव हो जायेगा |

5.कंप्यूटर एप्लीकेशन में मास्टर डिग्री करे

आप एक अच्छे सॉफ्टवेयर इंजिनियर बननें के साथ साथ अच्छी सैलरी भी प्राप्त करना चाहते है ,तो इसके लिए आपको कंप्यूटर में मास्टर डिग्री करना अति आवश्यक है | इसके लिए आप मास्टर इन कंप्यूटर साइंस, मास्टर इन कंप्यूटर एप्लीकेशन इत्यादि जैसे पाठ्यक्रम हेतु पढ़ाई कर सकते है |

Follow Us