आज के समय मे दुनिया डिजिटलाइजेशन के ओर तेजी से बढ़ रही है। ऐसे में Computer Engineer के लिए मौके भी बढ़ रहे हैं। विभिन्न देशों की सरकारें भी डिजिटल सशक्तिकरण को बढ़ावा दे रही है। जिससे कंप्यूटर इंजीनियरस की डिमांड भी बढ़ रही है। इसलिए हम कह सकते हैं कि इस फील्ड में रोजगार के अवसरों की काफी अच्छी संभावनाएं हैं।
इस आर्टिकल में हम आपको Computer Engineering के कैरियर स्कोप, जॉब के अवसर, इसके लिए बेस्ट कॉलेज कौन से है, इस फील्ड में कैरियर बनाने के लिए कौन सा कोर्स करना चाहिए आदि की जानकारी जानकारी देंगे। 

यह भी पढ़ें : कैसे बनें software Engineer, यहां जानें पूरी जानकारी  

अगर आप अच्छी खासी कमाई करना चाहते हैं और अपना भविष्य सुरक्षित रखना चाहते हैं तो कंप्यूटर इंजीनियर आपके लिए एक अच्छा विकल्प है। 

अगर आप भी Computer Engineer बनने का सपना पूरा करना चाहते हैं, तो आप 10वीं के बाद कंप्यूटर इंजीनियरिंग में डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं। इस कोर्स की अवधि 3 साल होती है। विभिन्न Engineering College में ये कोर्स संचालित किया जाता है। जिनमे आप एंट्रेंस एग्जाम या डायरेक्ट मेरिट के आधार पर एडमिशन पा सकते हैं। वंही गवर्नमेंट पॉलीटेक्निक कॉलेज से भी आप इस डिप्लोमा को कर सकते हैं। इसके लिए आपको पॉलीटेक्निक का जॉइंट एंट्रेंस एग्जाम देना होगा। इसके बाद मेरिट के बेस पर आपको कॉलेज में दाखिला मिलेगा।

वंही 12वीं पीसीएम के बाद BE/BTech in Computer Science Engineering कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं। जिसकी अवधि 4 साल होती है। लेकिन इनमें अच्छे कॉलेजों में एडमिशन के लिए नेशनल और स्टेट लेवल के जॉइंट एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ेगा। जैसे कि आईआईटी, आरपीईटी, यूपीटीयू, केसीईटी, एमएचटीसीईटी, बीआईटीएसएटी, वीआईटीईई जैसे एग्जाम क्वालीफाई कर अच्छे इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश पा सकते हैं।

  कैसे बनें कंप्यूटर इंजीनियर-
कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए आपको बीटेक या फिर बीई का कोर्स करना पड़ेगा। इसके लिए आप राज्य के या फिर देश के तकनीकी विश्वविद्यालयों में दाखिला ले सकते हैं। लेकिन इसके लिए आपको ऑल इंडिया इंजीनियरिंग एंट्रेंस इग्जामिनेशन(एआईईईई), आईआईटी या फिर राज्य स्तर के तकनीकी विश्वविद्यालयों के लिए राज्य स्तरीय परीक्षाएं जैसे यूपीटीयू, आरपीईटी पास करनी पड़ेंगी।   

कंप्यूटर इंजीनियरिंग क्या है (What is Computer engineering in Hindi)

computer science इंजीनियरिंग ब्रांच की सबसे पसंदीदा ब्रांच में से एक है. आज युवाओं की पहली पसंद भी computer science ब्रांच है. computer science इंजीनियरिंग एक graduation program है. इस कोर्स में आपको computer के programming language की पढाई कराइ जाती है. दोस्तों computer जितना हमारे काम को आसान बनाता computer के programming language उतने ही जटिल है.

इसमें आपको computer algorithm, computation, programming designing, software developing, web designing, web developer, जैसे subject को पढ़ाया जाता है. इसमें आपको computer हार्डवेयर के बारे में भी पढाया जाता है.

computer science में आपको software डेवेलोप करना सिखाया जाता है जिसे की आप हमारे technology को और आगे बढ़ा सके. दोस्तों बिना software के कोई technology काम नही कर सकती और इन software को बनाना computer इंजीनियरिंग में सिखाया जाता है.

computer science में आपको C, C++, PHP, DOT NET, PYTHON, JAVA, JAVA Script, SQL प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को पढ़ाया जाता है। 

कंप्यूटर इंजीनियर बनने की योगयता (Eligibility For Computer Engineer)

किसी भी इंजीनियरिंग संस्थान में किसी भी इंजीनियरिंग ब्रांच में दाखिला लेने के लिए.

  • B.Tech in computer science आपको मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं के परीक्षा math science विषय से कम से कम 60% अंकों के साथ पास करनी होती है.
  • M.tech in computer science course को करने के लिए आपको किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी या कॉलेज से computer science engineering करनी होती है.

कंप्यूटर इंजीनियर कैसे बने (How To Become an Computer Engineer in Hindi)

दोस्तों कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए आपको सबसे पहले 12वीं की परीक्षा math, science, subject से अच्छे अंकों के साथ पास करनी होती है. अगर  आपने अपनी 12वीं में  भी कंप्यूटर साइंस के विषय को रखा था तो यह आपके लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद साबित होगी.

Course for Career in Computer engineering

इस सेक्टर में कैरियर बनाने के लिए आप निम्न कोर्स कर सकते हैं जैसे कि-
बीईई इन कंप्यूटर साइंस
बीटेक इन कंप्यूटर साइंस
बीईई इन इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी
बीटेक इन इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी
डिप्लोमा इन इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी
बीएससी इन कंप्यूटर साइंस
डिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस
बीएससी आईटी

Computer Engineering सिलेबस

कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग कोर्स के अंतर्गत कंप्यूटर सिस्टम, प्रोग्रामिंग मैकेनिकल, कंप्यूटर आर्केटेक्चर, प्रोग्रामिंग लैंग्वेज, डेटाबेस एंड फ़ाइल सिस्टम, सॉफ्टवेर इंजीनियरिंग एंड आपरेटिंग सिस्टम, इन्फॉर्मेशन सिस्टम एंड सेक्युरिटी, कम्पाइलर सिस्टम, माइक्रोप्रोसेसर, एम्बेडेड सिस्टम, कंप्यूटर ग्राफ़िक्स, एडवांस सॉफ्टवेयर कोडिंग, ऑप्टिकल कॉम्युनिकेशन, नेचर लैन्वेज प्रोसेसिंग, आर्टिफिशियल एन्टीलेजेन्स, मल्टीमीडिया, वेब डेवलोपिंग, गेमिंग, एनालिसिस ऑफ डिज़ाइन एल्गोरिथ्म, सिस्टम सॉफ्टवेयर डेटाबेस, मोबाइल नेटवर्क, क्लाउड कंप्यूटर, सॉफ्टवेयर टेस्टिंग, डेटाबेस मैनेजमेंट, कंप्यूटर नेटवर्कस आदि की जानकारी प्रदान की जाती है।

यह भी पढ़ें : कैसे पाएं प्राइवेट जॉब , जरूर पढ़ें ये आर्टिकल  

Computer Engineering करने के बाद आप निम्न पदों पर जॉब हासिल कर सकते हैं।

कंप्यूटर इंजीनियर
सॉफ्टवेयर इंजीनियर
एप्लिकेशन कंसलटेंट
सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर
वेब डेवलोपर
गेम डेवलोपेर
मोबाइल एप्लीकेशन डेवलोपर
नेटवर्क एडमिनिस्ट्रेटर

Computer Engineering Course करने के बाद जॉब किन क्षेत्रों में मिलेगी?

गवर्नमेंट एंड प्राइवेट सेक्टर
कॉलेज एंड यूनिवर्सिटी
टेलीकॉम्युनिकेशन इंडस्ट्री
हेल्थकेयर सेक्टर
एग्रीकल्चर सेक्टर
डिफेन्स एंड एरोस्पेस सेक्टर
मैनुफैक्चरिंग सेक्टर
रिटेल सेक्टर
आईटी सेक्टर
आटोमोबाइल सेक्टर
नेशनल एंड इंटरनेशनल ट्रेड
एंटरटेनमेंट सेक्टर
टीचिंग, आदि

Follow Us