द इंडिया राइज
मोदी सरकार की सबसे बड़ी किसान योजना ‘प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम’ के लाभार्थियों के लिए किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) बनवाना बेहद आसान है। इस योजना से अब सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड को भी जोड़ दिया है। इससे केसीसी बनाने की प्रक्रिया तेज होगी। यानी जिन किसानों को सरकार 2000-2000 रुपये की तीन किस्तों में 6000 रुपये दे रही है, उन्हें केसीसी बनवाना आसान होगा। देश के 7 करोड़ किसानों के पास किसान क्रेडिट कार्ड है, जबकि सरकार एक करोड़ और लोगों को इसमें शामिल करना चाहती है। केसीसी कार्ड धारकों को 4 फीसदी पर 3 लाख रुपये तक का लोन मिलता है।
किसान क्रेडिट कार्ड
किसान क्रेडिट कार्ड के लिए अगर आवेदन करना है तो यह है प्रक्रिया
सबसे पहले ऑफिशियल साइट https://pmkisan.gov.in/ पर जाएं और यहां किसान क्रेडिट कार्ड का फॉर्म डाउनलोड करें। इस फॉर्म को आपको अपनी भूमि के दस्तावेज, फसल की डिटेल के साथ भरना होगा। यह जानकारी भी देनी होगी कि आपने किसी अन्य बैंक या शाखा से कोई और किसान क्रेडिट कार्ड नहीं बनवाया है। आवेदन भरकर सबमिट करें, जिसके बाद संबंधित बैंक से किसान क्रेडिट कार्ड आपको मिल जाएगा।

केसीसी के लिए जरूरी दस्तावेज
आईडी प्रूफ के लिए: वोटर ID card/ PAN कार्ड/ पासपोर्ट/आधार कार्ड/ ड्राइविंग लाइसेंस आदि।
एड्रेस प्रूफ: वोटर ID card / पासपोर्ट/आधार कार्ड/ड्राइविंग लाइसेंस आदि।

एक फायदा यह भी
अगर आप पीएम किसान योजना के लाभार्थी हैं तो आपको पीएम किसान मानधन योजना के लिए कोई दस्तावेज नहीं देना होगा। इस योजना के तहत किसान पीएम-किसान स्कीम से प्राप्‍त लाभ में से सीधे ही अंशदान करने का विकल्‍प चुन सकते हैं। उसे  अपनी जेब से पैसा नहीं खर्च करना पड़ेगा। पीएम किसान सम्मान निधि से मिलने वाली रकम 6000 रुपये में से उसका प्रीमियम कट जाएगा।

क्या है पीएम किसान मानधन योजना
प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना के तहत 18 से 40 की उम्र के बीच का कोई भी किसान भाग ले सकता है। उसे 60 की उम्र तक 55 रुपये महीने से 200 रुपये महीने के बीच है योगदान देना होता है। इस योगददान पर 60 की उम्र के बाद किसानों को योजना के तहत 3 हजार रुपये महीना या 36 हजार रुपये सालाना पेंशन मिलती है। अगर 18 साल की उम्र में जुड़ते हैं तो मासिक अंशदान 55 रुपये या सालाना 660 रुपये होगा। वहीं 40 की उम्र में जुड़ते हैं तो 200 रुपये महीना या 2400 रुपये सालाना योगदान करना होगा। पीएम किसान मानधन में जितना योगदान किसान का होगा, उसी के बराबर योगदान सरकार भी पीएम किसान अकाउंट में करेगी। यानी अगर आपका योगदान 55 रुपये है तो सरकार भी 55 रुपये का योगदान करेगी।

Follow Us