kisaan bill JP nadda the india rise news BJP


भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए बताया कि किसानों की मदद के लिए मोदी सरकार संसद में 3 बिल लाई है। नड्डा ने कहा कि किसानों के उत्पाद बेचने में मदद की जाएगी, लेकिन इस बीच कांग्रेस का किसानों को लेकर दोहरा चरित्र सामने आया है। विपक्ष ने इस बिल का विरोध किया है।

 

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि किसानों की जरुरतों को देखते हुए यह बिल पार्लियामेंट में लाया गया है आवश्यक वस्तु अधिनियम (बिल) 2020 लोकसभा में चर्चा के बाद पारित किया गया है इसी के साथ किसान उत्पादन और व्यवसाय एक्ट (Farmers Produce Trade and Commerce Act‌) और मूल्य आश्वासन और कृषि सेवाओं पर किसान (सशक्तीकरण और संरक्षण) समझौता बिल। तीनों बिल क्रांतिकारी हैं। ये तीनों बिल जो अभी निचले सदन और उच्च सदन में चर्चा चल रही है, ये तीनों ही बिल बहुत दूर दृष्टि वाले हैं। इसलिए इन्हें बिलों के रूप में संसद ले जाया जा रहा है। इससे कृषि क्षेत्र में निवेश बढ़ेगा।

 

जेपी नड्डा ने कहा कि पहले इस विधेयक को लेकर कांग्रेस पार्टी की तरफ से समर्थन किया का रहा था, लेकिन अब राजनीति की जा रही है। उन्होंने आगे कहा की कांग्रेस पार्टी इन बिलों का विरोध कर रही है वे किसानों के विकास को प्रभावित कर रही है। यह कांग्रेस का दोहरा चेहरा है। इनका काम हर चीज में राजनीति करना है। कांग्रेस को सिवाए राजनीति के कुछ नहीं आता।

 

जेपी नड्डा ने विधेयक के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि यह विधेयक 1955 का है। अब के मुकाबले पहले उपज काफी कम हुआ करती थी। इसलिए इसमें कुछ जरूरी संशोधन किए गए हैं। इसमें अपवाद की स्थिति को ध्यान में रखा गया है। अब इसमें निजी क्षेत्र भी निवेश कर पाएंगे।

 

यह कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग पर आधारित है। यह विधेयक इसलिए जरूरी है क्योंकि सभी लोग खेती नहीं करते हैं। इसलिए इनके माध्यम से समझौता किया जाएगा। अगर कॉन्ट्रेक्ट से कोई निवेश भी करता है तो जमीन का मालिकाना हक किसान के पास रहेगा।

Follow Us