देशभर में कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ता ही जा रहा है, राजधानी दिल्ली भी कोरोना से काफी बूरी तरह जूझ रही
है। दिल्ली में कोरोना के केस 1 लाख 25 हजार के आंकड़े को पर कर चुका है। इसी बीच दिल्ली सरकार ने दिल्ली वासियों
को बड़ी राहत दी है। केजरीवाल सरकार ने राशन की डोर स्टेप डिलीवरी योजना को मंजूरी दे दी है। दिल्ली के
केजरीवाल सरकार ने इस योजना को मुख्यमंत्री घर-घर राशन योजना नाम दिया गया है।

डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस कर शुरू की योजना
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस राशन योजना की जानकारी दी है। उनका
कहना है कि इस योजना के तहत दिल्लीवासियों के घर बैठे ही राशन मुहैया कराया जाएगा, जिससे उन्हें राशन की दुकान
पर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

अगले 6-7 महीनों में शुरू होगी ये योजना
अरविंद केजरीवाल ने डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, ''जो दुकान पर जा कर राशन लेना चाहते हैं लोगों को यह
विकल्प दिया जाएगा कि वह दुकान पर जाकर सामान ले सकते हैं।वहीं अगर वह होम डिलीवरी चाहते हैं तो उसका
विकल्प इस्तेमाल कर सकते हैं।अगले छह से 7 महीने में होम डिलीवरी राशन की शुरू हो जाएगी।होम डिलीवरी में गेहूं
की जगह आटा दिया जाएगा।जिस दिन दिल्ली में राशन की होम डिलीवरी शुरू होगी उसी दिन केंद्र सरकार की वन
नेशन वन राशन कार्ड की योजना दिल्ली में लागू कर दी जाएगी।

कोरोना संक्रमण रोकने में मिलेगी मदद
मुख्यमंत्री का कहना है कि इस योजना से कोरोना के संक्रमण पर काफी हद तक नियंत्रण करने में मदद मिलेगी। मुख्यमंत्री
अरविंद केजरीवाल ने भी इसे लेकर सोशल मीडिया पर जानकारी दी है।उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा 'आज कैबिनेट ने
“मुख्यमंत्री घर घर राशन योजना” पारित की। इसके लागू होने पर लोगों के घर राशन भिजवाया जाएगा, उन्हें राशन की
दुकान पर नहीं आना पड़ेगा। ये बहुत ही क्रांतिकारी कदम है। वर्षों से हमारा सपना था कि गरीब को इज़्ज़त से राशन
मिले, आज वो सपना पूरा हुआ है।

Follow Us