cwc meeting congress party

वहीं सोनिया गांधी ने कहा कि अध्यक्ष पद संभालते हुए एक साल पूरा चुका है। अब कांग्रेस नेता अपना नया अध्यक्ष चुन लें। सोनिया गांधी के इस बयान से बाद से स्थिति फिर वैसी हो गई है जैसी एक साल पहले, जब राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया था।


कांग्रेस की कार्यकारिणी की बैठक से पहले कांग्रेस के अध्यक्ष पद को लेकर उहापोह की स्थिति बानी हुई है। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष के तौर पर सोनिया गांधी का कार्यालय 10 अगस्त को खत्म हो गया था। वहीं पार्टी रिपोर्ट्स के मुताबिक कहा ये जा रहा है कि सोनिया गांधी अध्यक्ष पद से हट सकती हैं। सोमवार सुबह 11 बजे कांग्रेस वर्किंग कमेटी CWC की बैठक काफी अहम होने वाली है।

बता दें कि कांग्रेस के 23 सदस्यों ने निचले से ऊपरी स्तर तक बदलाव की मांग की है। वहीं सोनिया गांधी ने कहा कि अध्यक्ष पद संभालते हुए एक साल पूरा चुका है। अब कांग्रेस नेता अपना नया अध्यक्ष चुन लें। सोनिया गांधी के इस बयान से बाद से स्थिति फिर वैसी हो गई है जैसी एक साल पहले, जब राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया था। उस समय चुनावी हार की जिम्मेदारी लेते हुए राहुल गांधी ने पद छोड़ा था। वहीं सोनिया गांधी ने नई जिम्मेदारियों और परिवर्तन के साथ अध्यक्ष पद संभाला था।

कौन हैं चिट्ठी लिखने वाले मंत्री ?

चिट्ठी लिखने वाले आनंद शर्मा, गुलाब नबी आजाद, कपिल सिब्बल, विवेक तनखा, पृथ्वीराज च्वहाण, वीरप्पा मोइली, शशि थरूर, भूपेंद्र हुड्डा, राज बब्बर, मनीष तिवारी, मुकुल वासनिक समेत कई पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भी शामिल हैं।

चिट्ठी में लिखा क्या था ?

जानकारी के मुताबिक चिट्ठी में लिखा गया है कि भाजपा लगातार आगे बढ़ रही है युवा नरेंद्र मोदी को डटकर वोट कर रहे हैं। कांग्रेस का बेस कम होने और युवाओं का आत्मविश्वास टूटने को लेकर चिंताएं जताई हैं। यह चिट्ठी 15 दिन पहले भेजी गई थी। चिट्ठी में कांग्रेस नेतृत्व में बदलाव को लेकर हो रही देरी पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं।

क्या हैं मांगे ? 

● लीडरशिप फुल टाइम प्रभावी, एक्टिव हो जिसका असर  दिखे

● कांग्रेस वर्किंग कमेटी ( CWC ) के चुनाव करवाए जाएं

● इंस्टीट्यूशनल लीडरशिप बनें, जिससे काम जोश से हो।

रिपोर्ट्स के मुताबिक कांग्रेस के अन्य सदस्य राहुल गांधी को फिर से अध्यक्ष बनाने की मांग कर रहे हैं। 2 दिन पहले हुई मीडिया ब्रीफिंग में कहा गया था कि कार्यकर्ता राहुल गांधी को अध्यक्ष के तौर पर देखना चाहते हैं, लेकिन सुनने में आया है कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा गांधी परिवार के अलावा अध्यक्ष बनाने की बात रखी है।

Follow Us