कांग्रेस पार्टी की अध्‍यक्ष सोनिया गांधी को दिल्‍ली के सर गंगा राम अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। सोनिया गांधी को गुरुवार की शाम को करीब सात बजे अस्‍पताल लाया गया है। फिलहाल उनकी हालत स्थिर है। अस्‍पताल बोर्ड के चेयरमैन डॉ डीएस राणा ने बताया कि सोनिया गांधी को नियमित चेकअप के लिए अस्‍पताल में भर्ती हुईं  हैं। उनकी हालत बिल्‍कुल सामान्‍य है।

 

पेट में संक्रमण की है शिकायत

इधर, सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सोनिया गांधी को पेट में संक्रमण के इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हालांकि, अस्पताल प्रबंधन बोर्ड के अध्यक्ष राणा ने बताया है कि उनकी हालत अभी ठीक है। नियमित जांच व कुछ टेस्ट किए जाएंगे।

 

फरवरी में अस्‍पताल में हुईं थी भर्ती

इससे पहले दो फरवरी, 2020 को सोनिया गांधी पेट में दर्द की शिकायत के बाद सर गंगाराम अस्‍पताल में ही भर्ती हुईं थीं। इसके बाद यहां उनसे मिलने के लिए कई नेताओं का जमावड़ा लग गया था। बता दें कि 73 वर्षीय सोनिया गांधी बीते कुछ वर्षों से स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से जूझ रही हैं। गौरतलब है कि सोनिया गांधी विदेश में भी इलाज करवा चुकी हैं। साल 2017 में उन्होंने अमेरिका में रहकर इलाज करवाया था।इस दौरान उनके बेटे राहुल गांधी या बेटी प्रियंका गांधी वाड्रा साथ ही जाते थें।

 

राज्‍यसभा के सदस्‍यों के साथ की थीं वर्चुअल मीटिंग 

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सुबह पार्टी के राज्यसभा सांसदों के साथ वर्चुअल मीटिंग की थी। मीटिंग में सोनिया गांधी ने राज्‍य सभा के सभी सांसदों के साथ राजनीति के वर्तमान हालात पर चर्चा की। इस बैठक में पार्टी के सदस्‍यों ने फिर से राहुल गांधी को अध्‍यक्ष बनाने की मांग की।इस दौरान राजस्थान के सियासी संकट, कोरोनावायरस और लद्दाख में चीनी घुसपैठ और मोदी सरकार के मिस-मैनेजमेंट पर बात हुई। सूत्रों के अनुसार मीटिंग में देश के कई ऐसे ज्वलंत मुद्दों पर चर्चा की गई। मीटिंग में इस पर भी चर्चा हुई की महामारी के इस दौर में राज्यसभा सदस्य किस तरह से लोगों की मदद कर सकते हैं।

 

राजनीतिक सक्रियता में आयी थी कमी

73 वर्षीय सोनिया गांधी बीते सालों में स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से घिरी रही हैं। यही कारण है कि बीच में उनकी राजनीतिक सक्रियता में भी कमी आई थी। राहुल गांधी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद उन्हें एक बार फिर कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया।राहुल से पहले वो लंबे समय तक कांग्रेस अध्यक्ष रही हैं।

Follow Us