यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना से लड़ने में प्राइवेट मेडिकल संस्थानों की तारीफ की है. सीएम का कहना है कि खुद का ऑक्सीजन प्लांट लगाने में प्राइवेट क्षेत्र के मेडिकल इंस्टिट्यूट अपनी जरूरत बताएं जिससे सरकार उनकी मदद कर सके. भविष्य की जरूरतों को देखते हुए पता लगता है कि हर अस्पताल को ऑक्सीजन जैसी जरूरत के लिए आत्मनिर्भर होना होगा. 

यह भी पढ़ें : यूपी में ऑक्सीजन व बेड की कमी ने बढ़ाई राज्य सरकार की मुश्किलें 

मुख्यमंत्री योगी ने बुधवार को वीडियो क्रांफेंसिंग के दौरान कहा कि लखनऊ, प्रयागराज, कानपुर, वाराणसी में कोरोना की स्थिति की समीक्षा भी की थी. सीएम का कहना है कि प्रदेश में नवीन ऑक्सीजन प्लांट को राज्य सरकार हर तरह के प्रोत्साहन देगी. ऑक्सीजन प्लांट लगाने में मदद के लिए विधायक निधि और एसडीआरएफ का प्रयोग भी किया जाएगा. 

केंद्र सरकार से आवंटित ऑक्सीजन लाने के लिए गाडि़यां बोकारो रवाना हो रही हैं। मांग और आपूर्ति के बीच संतुलन बनाते हुए ऑक्सीजन उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने ऑक्सीजन रीफिलिंग केंद्रों पर सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम करने व अति गंभीर परिस्थितियों को छोड़कर व्यक्तिगत रूप से ऑक्सीजन न देने की हिदायत दी है।

यह भी पढ़ें : दर्दनाक: ट्रेन से उड़े ट्रक के परखच्चे, पति-पत्नी और बेटी समेत चार की गई जान  

नासिक की दुर्घटना से लें सबक, सावधानी बरतें
मुख्यमंत्री योगी ने नासिक में ऑक्सीजन लीक होने की दुर्घटना का जिक्र करते हुए कहा कि स्थिति हृदयविदारक है। हमें इससे सबक लेना चाहिए। सभी स्थानों पर सुरक्षा एवं सावधानी बरती जाए

Follow Us