रामनगरी अयोध्या (Ayodhya) में भूमि पूजन को भव्य बनाने के लिए खास तैयारियां चल रही हैं। करीब 500 साल के
बाद रामभक्तों की इच्छा पूरी होने जा रही है। श्री रामजन्मभूमि मंदिर के गर्भगृह में भूमि पूजन के लिए पांच अगस्त को
अयोध्या आ रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम की तैयारी की कमान खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संभाल ली
है।

सीएम तैयार करेंगे भूमि पूजन की रूपरेखा
सीएम आज दोपहर अयोध्या पहुंचेंगे। यहां पर रामलला के दर्शन करेंगे और हनुमानगढ़ी भी जाएंगे। इसके साथ ही योगी
श्री रामजन्मभूमि परिसर में पीएम के दौरे की रूपरेखा का खाका तय करेंगे। साथ ही पर्यटन विकास की योजनाओं पर
मंथन करेंगे। ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास के साथ भूमि पूजन में आ रहे अतिथियों को लेकर भी चर्चा होगी।
मुख्यमंत्री के इस दौरे में उनके साथ गृह मंत्रालय, पुलिस व पर्यटन विभाग के आला अधिकारी भी होंगे। बता दें कि
पिछले हफ्ते ही सीएम योगी ने अयोध्या के विकास के लिए हो रहे कार्यों का भी जायजा लिया था। उन्होंने प्रजेंटेंशन के
जरिए कार्यों की समीक्षा की थी।

5 अगस्त को दिखेगा दीवाली जैसा नज़ारा
कोरोना काल में भूमि पूजन के लिए दो गज की दूरी का पालन करते हुए खास तैयारियां की गई हैं। मठ मंदिरों में अनुष्ठान
होंगे तो घर-घर दीप जलाकर खुशियां मनाई जाएंगी। दूसरी तरफ सरयू आरती में भी उत्साह दिखेगा। सरयू की
महाआरती को भव्य बनाने की तैयारी है। भूमि पूजन के दिन अयोध्या में दीवाली की झलक देखने को मिल सकती है।

विश्व हिंदू परिषद ने भेजी 11 तीर्थ स्थलों की मिट्टी
विश्व हिंदू परिषद ने भी राम मंदिर निर्माण के लिए 11 तीर्थ स्थलों की मिट्टी दिल्ली से अयोध्या भेजी है। इसमें दिल्ली के
सिद्ध पीठ कालकाजी, प्राचीन पांडव कालीन भैरों मंदिर, पुराना किला, गुरुद्वारा शीशगंज, चांदनी चौक, गौरी शंकर
मंदिर, चांदनी चौक, दिगंबर जैन लाल मंदिर, चांदनी चौक, प्राचीन काली माता मंदिर, बंगला साहिब, लक्ष्मी नारायण
मंदिर, भगवान वाल्मीकि मंदिर, बद्री भगत झंडेवालान मंदिर, करोल बाग से ये मिट्टी इकट्ठा की गई हैं।
सोशल डिस्टेनसिंग के साथ होगा भूमि पूजन

कोरोना को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग के साथ कार्यक्रम संपन्न हो, इसकी रूपरेखा तय होगी। सीएम श्री रामजन्मभूमि
स्थल का भी जायजा लेंगे। वहां अभी समतलीकरण मात्र दो हेक्टेयर में हुआ है, ऐसे में पूरे परिसर में साफ-सफाई और
समतलीकरण की रूपरेखा भी तय हो सकती है। बताया जा रहा है कि सीएम पूजन की विधि परखेंगे और इस दौरान
रामनगरी कैसे सजेगी ये भी तय करेंगे।

Follow Us