छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस पूरी तरह से बेकाबू है. संक्रमण की रफ्तार ने जोर पकड़ लिया है, जिसका नतीजा यह है कि राज्य में हर दिन कोरोना के रिकॉर्ड मामले सामने आ रहे हैं. बिगड़ते हालातों के चलते राज्य में पाबंदियां बढ़ाई जा रही है. कोरोना की चेन तोड़ने के लिए अब छत्तीसगढ़ के रायपुर समेत कई जिलों में लॉकडाउन को आगे बढ़ा दिया गया है. इस दौरान आवश्यक सेवाएं जारी रहेंगी. स्ट्रीट वेंडर्स, किराना, राशन, फल और सब्जी के लिए आंशिक छूट मिलेगी. लेकिन बिना काम के लोगों को घर से बाहर निकलने की मनाही है.

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड: अब शादी में शामिल हो सकेंगे केवल 50 लोग 

इस दौरान रायपुर जिले की सभी सीमाएं पूरी तरह सील रहेंगी। रायपुर जिले में इस महीने की नौ तारीख से लॉकडाउन जारी है। आदेश में कहा गया है कि इस दौरान अस्पताल, दवाई की दुकानें खुली रहेंगी। वहीं, शासकीय उचित मूल्य की दुकानें भी निर्धारित अवधि के लिए खुलेंगी। लॉकडाउन की अवधि में फल, सब्जी, अंडा, मछली और किराना का सामान सुबह छह बजे से दोपहर बाद दो बजे तक घरों को पहुंचाया जा सकेगा।

आदेश के अनुसार, लॉकडाउन के दौरान स्थानीय ऑनलाइन दुकानों और ई कॉमर्स सेवाओं को सामान घर पहुंचाने की अनुमति दी गई है। जिला प्रशासन ने अपने आदेश में कहा है कि इस व्यवस्था में शामिल सभी व्यक्तियों को नियमित अंतराल में कोविड-19 की जांच करवाना होगा तथा 45 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्तियों को टीकाकरण करवाना होगा।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड : आज लॉकडाउन पर फैसला ले सकती है सरकार 

रायपुर के अलावा बेमेतरा, सूरजपुर और जशपुर में भी लॉकडाउन को 5 मई तक बढ़ाया गया है. इस दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी गतिविधियां बंद रहेंगी. राज्य के बाहर से आने वाले यात्रियों को 72 घंटे के भीतर की कोविड निगेटिव रिपोर्ट दिखाना जरूरी होगा. इन जिलों के अलावा भी राज्य के अन्य हिस्सों में लॉकडाउन बढ़ने के आसार हैं. फिलहाल बाकी जिलों में कलेक्टरों को कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए पाबंदी लगाने का फैसला लेने का अधिकार दिया गया है.

Follow Us