साल 2020 जैसे बॉलीवुड इंडस्ट्री के लिए हर दिन एक Black Day जैसा हो गया है, बुधवार को मशहूर गीतकार अनवर सागार का निधन हुआ था.  वहीं आज गुरुवार को मशहूर डायरेक्टर बासु चटर्जी का मुंबई में निधन हो गया. वैसे तो बुजुर्ग शरीर में बीमारी होने के चांस होते हैं लेकिन बासु चटर्जी का निधन किसी बीमारी से हुआ या बुजुर्ग शरीर होने के कारण इस बात का अभी कोई प्रमाण नहीं मिला हैं.

बासु चटर्जी ने कई रोमांटिक फिल्में बनाई हैं. लेकिन शुरुआती दिनों में उन्होंने 18 साल इलस्ट्रेशन और कार्टूनिस्ट के रूप में काम किया था.

बता दें कि बासु चटर्जी 10 जनवरी, 1930 में अजमेर में जन्में थे. उन्होंने कलकत्ता से अलग हट अपनी एक अलग पहचान बनाई. उनकी कुछ फिल्मों ने इतिहास में अपनी जगह बना ली जैसे “चमेली की शादी” “खट्टा मीठा” “गुदगुदी” “रत्नदीप” जैसी फिल्मों में एक अलग ही मुकाम हासिल किया. आपको बता दें की बासु चटर्जी को 2007 के आईफा अवार्ड में उन्हें लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड से नवाज़ा गया.

बासु चटर्जी ने फिल्मों के अलावा भी टी वी शो भी डायरेक्ट किए है. बासु दा की दो बेटियां हैं, सोनाली भट्टाचार्य और रुपाली गुहा.

बासु दा ने 1970 और 1980 के दशक में अपनी कल्पना और टैलेंट को फिल्मों में ऐसा उभारा की आज भी बासु दा की फिल्मे लोगों के जहन में हैं.

कुछ खास फिल्मे

पिया के घर –  1972

रजनीगंधा –    1974

खट्टा मीठा –   1978

जीना यहां –   1979

बातों बातों में -1979

अपने प्यारे –   1980

Follow Us