किलर कोरोना ने दोनों तरफ से वार किया है. पहले मासूमों की जिंदगी से खेल रहा है दूसरा अर्थव्यवस्था की जड़े कमजोर कर रहा है.

प्रभावित अर्थव्यवस्था को फिर से पटरी पर लाने के लिए सरकार ने जरूरी कदम उठाए हैं बंद पड़े कारोबार और सेक्टर को फिर से चालू किया है इसमें से एक पेट्रोलियम है, इस सेक्टर के एक रेगुलेटर पेट्रोलियम एंड नेचुरल गैस रेगुलेटरी बोर्ड (Petroleum and Natural Gas Regulatory Board) ने दो दिन पहले आदेश जारी कर बताया कि LNG स्टेशन स्थापित करने के लिए किसी भी प्रकार के लाइसेंस की अब जरूरत नहीं है.

अब देश में कोई भी एंटिटी एलएनजी स्टेशन खोल सकते है. जैसे ही पीएनजीआरबी ने यह घोषणा की वैसे ही बड़ी कंपनी पेट्रोनेट एलएनजी लिमिटेड ने इस फैसले को स्वीकार कर एक बड़े प्लान का खुलासा कर दी कंपनी ने कहा, कि पूरे देश में LNG स्टेशन स्थापित करने का आवेदन देगी.

पेट्रोनेट एलएनजी

पेट्रोनेट एलएनजी लिमिटेड ने अपने अधिकार बयान में कहा, है कि पीएनजीआरबी के बड़े फैसले के बाद पूरे देश में अब एलएनजी स्टेशन खोले जाएंगे. नेशनल हाइवे के किनारे एलएनजी स्टेशन का होना प्रमुख होगा इस प्लान में कोई मार्केटिंग कंपनी इंटरेस्टेड है, तो इस लिंक के जरिए आवेदन कर सकती है.

https://www.petronetlng.com

इकोनॉमी मजबूत करने की ओर बड़ा कदम

पेट्रोनेट के MD, CEO प्रभात सिंह का कहना है कि यह गैस आधारित इकोनॉमी बनाने का एक बड़ा और अच्छा कदम है. यह एक स्वच्छ ग्रीन गैस है इसे प्रमोट करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. माना यह गया है, कि इसके प्रयोग से 25 फीसदी कम बिल आएगा. क्रूड ऑयल के मुकाबले एलएनजी इंपोर्ट करने पर काफी फायदा हो सकता है.

Follow Us