चक्रवती तूफान निसर्ग बहुत तेजी से बढ़ रहा है. मौसम विभाग की माने तो मुंबई के तटीय क्षेत्रों में 100 से 120 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से आंधी और तेज बारिश होने के आसार हैं. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक आज दोपहर में यह तूफान महाराष्ट्र, गुजरात के तट के टकराया था. आपको बता दें, कि अम्फन के बाद एक और तूफान ने भारत में दस्तक दे दी है.

मौसम विभाग ने अपने ट्वीट में लिखा है, कि चक्रवात निसर्ग का केंद्र महाराष्ट्र तट के काफी करीब है. अब भूस्खलन की प्रकिया शुरू होने वाली हैं और यह करीब 3 घंटे तक जारी रहेगी. मौसम विभाग के मुताबिक यह तूफान करीब 120 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से तेजी से बढ़ रहा है. अगले 12 घंटों में भूस्खलन की स्थिति भी बन सकती है. तूफान के कारण काफी पेड़ उखाड़ चुके हैं. तेज बारिश के कारण नुकसान का खतरा बना है.

आपको बता दें, कि मुंबई में करीब 139 साल बाद ऐसा इस तरह का भयानक तूफान देखा गया है. तूफान की भयावहता को देखते हुए बांद्रा वर्ली  लिंक पर अब वाहनों के आने-जाने पर रोक लगा दी गई है.
एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पालघर में अधिक खतरा होने  की आशंका जताई गई थी, लेकिन अभी पालघर में काफी हालात काबू में हैं. मौसम का कुछ कहा नहीं जा सकता कब किस ओर रुख बदल ले कुछ नहीं पता. लेकिन साउथ मुंबई में अभी भी खतरा बना हुआ है. और रायगढ़ में तेज हवाओं से छप्पर तक उड़ गए.

निसर्ग का मतलब क्या है.

दरअसल 2000 में India Meteorological Department  ने 2020 में 160 नामों की सूची बनाई थी. जिसमें 13 देशों के नाम शामिल किए गए थे. नई सूची में निसर्ग के अलावा अवर्ण, आग, वियोम, अजर, प्रभंजन, तेज, गति, लु लु आदि नाम शामिल हैं हाल ही में आया अम्फन तूफान भी इस ही लिस्ट में शामिल था. निसर्ग का नाम बंगाल से लिया गया है.  जिसका अर्थ प्रकृति है.

Follow Us