प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कर्नाटक के राजीव गांधी यूनिवर्सिटी के सिल्वर जुबली कार्यक्रम में शामिल हुए.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, की दूसरे विश्व युद्ध के बाद आज सबसे बड़ा संकट आ गया है. दूसरे विश्व युद्ध के चलते देश की शक्ल बदल गई थी वैसे ही आज कोरोना वायरस के चलते देश की शक्ल बदल गई है. कोरोना वायरस से जंग छेड़ने में योद्धाओं का अहम रोल रहा है. आज पूरे विश्व में जंग छिड़ी है और जीत के लिए पूरी दुनिया भारत की तरह देख रही है. हमें मानवता की ओर एक और कदम बढ़ाना है.
आयुष्मान भारत की सबसे बड़ी हेल्थ स्कीम है. 2 साल में कम से कम 1 करोड़ लोगों को लाभान्वित किया है. इसका सबसे ज्यादा लाभ गांव के लोगों और मांहिलाओं को मिला है.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, कि अब देश में 22 और AIIMS खुल गए हैं. साथ ही पिछले पांच सालों में देश में MBBS  की 30 हजार सीटें  बढ़ा दी गईं हैं. और 15 हजार की बढ़ोतरी पोस्ट ग्रेजुएशन की सेटों में की गई हैं.
साथ ही प्रधानमंत्री ने डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मियों को बिना बर्दी वाला सैनिक बताया है. कोरोना वायरस भले ही Invisible है. लेकिन कोरोना योद्धा Invincible हैं. पी एम ने कहा, कि फ्रंट लाइन वर्कर के साथ दुर्व्यवहार बर्दास्त नहीं किया जा सकता. प्रधानमंत्री ने बताया कि मेक इन इंडिया के तहत घरेलू निर्माताओं ने Covid-19 से लड़ रहे योद्धाओं की मदद के लिए 1 करोड़ पीपीई किट उपलब्ध करवाया है.
देश में अयोग्य सेतु ऐप बनाया गया है.  जिससे Covid -19 से जंग लड़ने में मदद मिली है अब तक करीब 12 करोड़ लोगों ने अरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड कर चुके हैं.

Follow Us