कोरोना वायरस महामारी से सारी गतिविधियां ठप होने के बीच राजस्थान सरकार के स्टार्टअप प्रोत्साहन समूह istart ने मंगलवार को ‘istart गुरुकुल ’ वेबिनार सीरीज की शुरुआत की जिसमे प्रतिदिन राजस्थान के सफल स्टार्टअप्स अपनी success स्टोरी बताएंगे , इस पहल के द्वारा राज्य के लाखों युवाओ को प्रोत्साहित करने की योजना है | आज इसी कड़ी में “FLEECA” स्टार्टअप के सीईओ तिकम जैन ने अपनी कहानी साझा की |

आप भी जानिए लॉकडाउन में ट्रक ड्राइवर्स के लिए वरदान बने यह मोबाइल एप “FLEECA” की कहानी

फ्लीका इंडिया एक टायर प्रबंधन स्टार्टअप है जिसने लॉकडाउन के दौरान राजमार्गों पर स्थित अपने 250 से अधिक सेंटर्स को चालू किया है।

फ्लीका सेंट्रस पर दी जाने वाले सेवाओं में टायर फिटमेंट, टायर निकालना, पंचर रिपेयर, रोटेशन, व्हील एलाइनमेंट, फ्रेश और रिट्रेड टायर बिक्री आदि शामिल हैं। फ्लीका सेंटर्स की टीम वर्तमान में 9 राज्यों में 13 राष्ट्रीय और राज्य राजमार्गों पर सक्रिय रूप परिचालन कर रही है जिनमें दिल्ली-अहमदाबाद-मुंबई, दिल्ली-नासिक-मुंबई, मुंबई-बैंगलोर-चेन्नई, दिल्ली-कोलकाता, जयपुर-गांधीधाम, चित्तौड़- नीमच-दाहोद, पुणे-सोलापुर-हैदराबाद के राजमार्ग शामिल हैं।

लॉकडाउन  के दौरान 3,000 ट्रक ड्राइवर्स को फ्लीका एप ने मदद की है। इस एप की के जरिए ड्राइवर्स को मेडिकल, खाने-पीने की चीजें और अन्य जरूरी सामान मुहैया कराया गया है।

अपनी इस पहल पर फ्लीका इंडिया के सीईओ तिकम जैन ने कहा, ‘ 22 अप्रैल से हमने राजमार्गों पर अपने फ्लीका सेंटर्स का संचालन शुरू किया। सरकार के निर्देशानुसार विशेष रूप से राजमार्गों पर ट्रक और अन्य हैवी व्हीकल्स की मरम्मत के लिए अनुमति मिलने के बाद लॉकडाउन के इस मुश्किल समय में फ्लीका ने 13 हाइवे पर अपने सेंटर्स खोल दिए। टायर का रख-रखाव सड़क पर सबसे आम जरूरतों में से एक है जो ट्रक मालिकों और ड्राइवर्स को समय पर डिलीवरी नहीं पहुंचाने का सबसे बड़ा कारण बनता है।’
लॉकडाउन की अवधि में में राजमार्गों पर ट्रक ड्राइवर्स से मरम्मत के नाम पर ऊंची कीमतें वसूली जा रही है लेकिन कंपनी का दावा है कि वह इस मुश्किल घड़ी में पारदर्शी मूल्य के साथ तत्काल और बेहतर सेवा दे रही है। सेवा का लाभ उठाने के लिए ट्रक ड्राइवर्स को फ्लीक एप डाउनलोड करना होगा जिसकी मदद से निकटतम फ्लीका सेंटर्स का पता लगाया जा सकता है।

इसके अलावा +91-7733999944 पर कॉल करके भी मदद ली जा सकती है।

 

 

Follow Us