rafales, indian air force


 

फाइटर जेट सोमवार को हुआ था फ्रांस से रवाना

फ्रांस के मेरिनेक एयरबेस से राफेल की पहली खेप सोमवार को रवाना हो गई थी। पायलटों के आराम के लिए विमानों को यूएई में रोका गया है। सात हजार किमी. की दूरी तय कर लड़ाकू विमान बस कुछ घंटों बाद भारत पहुंचने वाले हैं। मिराज 2000 जब भारत आया था तो कई जगह रुका था, लेकिन राफेल एक स्टॉप के बाद सीधे अंबाला एयरबेस पर  लैंड करेंगे।

 

दुश्मन को मुंहतोड़ जवाब देने को तैयार

भारत को फ्रांस से 36 राफेल मिलने हैं, जिसमें से अभी पांच राफेल मिल रहे हैं। राफेल की पहली खेप की तैयारी अंबाला में की जाएगी। जो कि चीन के बॉर्डर से 300 किमी. की दूरी पर होगा। साफ शब्दों में कहें तो दुश्मन के हरकत करने पर तुरंत एक्शन लेने की तैयारी की जा रही है। जानकारी के मुताबिक 36 राफेल विमानों की डिलिवरी 2021 तक पूरी हो जाएगी।


अपडेट जारी है……

 

Follow Us