देश में कोरोना महामारी के कारण इस साल कई त्योहारों पर असर पड़ा। सोशल डिस्टेंसिंग, लॉकडाउन और भीड़ जुटने
की मनाही के कारण पिछले कई महीने से बड़े कार्यक्रम नहीं हुए हैं। कुछ ऐसा ही 15 अगस्त (स्वतंत्रता दिवस) को लाल
किले पर होने वाले कार्यक्रम में भी होगा। यानी भीड़ कम और तमाम कोविड प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा।

क्या है गाइडलाइन
– स्वतंत्रता दिवस पर सामूहिक आयोजनों से बचने की सलाह दी गई है।
– आजादी का पर्व मनाने के लिए टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाए।
– सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क, सैनिटाइजेशन जैसे उपाय अपनाने होंगे। भीड़ न जुटे, इसका ध्यान रखना होगा।
– होम और हेल्थ मिनिस्ट्री की पहले से जारी गाइडलाइंस का पालन करना होगा।
– वेब कास्ट के जरिए समारोह का सीधा प्रसारण किया जाए।

इसबार के कार्यक्रम में स्कूली बच्चे नहीं
स्वतंत्रता दिवस पर इस बार स्कूली बच्चों को शामिल नहीं किया जाएगा। इनकी जगह 300 के करीब एनसीसी कैडेट्स को
सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए बुलाया जा सकता है। देश को संबोधित करने के बाद पीएम नरेंद्र मोदी आमतौर
बच्चों से मिलते रहे हैं। वह लाल किले से निकलते वक्त अपनी गाड़ी से उतरकर तिरंगे के डिजाइन में बैठे बच्चों से मिलते रहे
हैं। वह बच्चों के बीच जाकर फोटो खिंचवाते हैं और उनसे हाथ मिलाते हैं। लेकिन कोविड-19 के कारण इसबार के कार्यक्रम
में बच्चे नहीं होंगे। ऐसे में पीएम की ये तस्वीरें हमें नहीं दिखेंगी

250 के करीब लोगों को न्योता
एक अधिकारी ने बताया कि इस बार स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम में मेहमानों की लिस्ट छोटी होगी। हर साल करीब
900-1000 लोगों को बुलाया जाता था लेकिन इसबार करीब 250 लोगों को न्योता दिया जाएगा और ये पीएम नरेंद्र
मोदी के देश के नाम संबोधन के लिए मौजूद रहेंगे। पीएमओ के आला अधिकारी, कैबिनेट सेक्रेटेरिएट के आला अधिकारी
और मंत्रालयों के सचिव भी कार्यक्रम में शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि अंतिम सूची रक्षा मंत्रालय तैयार करेगा। यही
नहीं, कार्यक्रम में शामिल होने वाले मेहमानों की लिस्ट भी छोटी होगी। सीटिंग अरेंजमेंट भी अलग होगी और पुलिस के
जवान पीपीई किट में होंगे।

राज्यों और केंद्र शाषित प्रदेशों के लिए गाइडलाइन
:- राज्य और केंद्रशासित प्रदेश में मुख्यमंत्री 9 बजे तिरंगा फहराएंगे।इसके बाद राष्ट्रगान होगा।
:- पुलिस, पैरा मिलिट्री फोर्स, हम गार्ड और एनसीसी द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाएगा।
:- इसके बाद मुख्यमंत्री का भाषण होगा।

:- राष्ट्रगान के साथ कार्यक्रम की समाप्ति।
:- कोरोना को देखते हुए ज्यादा लोगों को बुलाने पर रोक रहेगी।
:- कार्यक्रम में सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क पहनने जैसे नियमों का पालन करना होगा।
:- राज्य सरकारों को सलाह दी गई है कि कार्यक्रम के लिए डॉक्टरों, दूसरे हेल्थ वर्कर्स और सफाई कर्मचारियों को सम्मान
देने के लिए समारोह में आमंत्रित करें। ऐसे लोग जिन्होंने कोरोना को हराया है, यानी वे जो संक्रमण के बाद स्वस्थ हो चुके
हैं, उन्हें भी समारोह में बुलाया जा सकता है

जिला प्रशासन के लिए गाइडलाइन
:-राज्य की तरह ही 9 बजे जिला अधिकारी तिरंगाफहराएंगे।
:- इसके बाद राष्ट्रगान होगा। इस दौरान जिला अधिकारी स्वतंत्रता दिवस के महत्व और राष्ट्र की अखंडता के बारे में
जानकारी देंगे।
:- राष्ट्रगान के साथ कार्यक्रम की समाप्ति।
:- कोरोना को देखते हुए ज्यादा लोगों को बुलाने पर रोक रहेगी।
:- कार्यक्रम में सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क पहनने जैसे नियमों का पालन करना होगा।
:- कोरोना के खिलाफ जंग में अहम भूमिका निभाने वाले कोरोना वॉरियर्स जैसे डॉक्टर, हेल्थ वर्कर, सैनिटाइजेशन वर्कर
आदि को मारोह के लिए न्योता भेजा जाएगा। इसके अलावा कोरोना से ठीक हुए कुछ लोगों को भी बुलाया जा सकता
है।

लाल किले पर होगा इन कार्यक्रमों का आयोजन
लाल किले पर स्वतंत्रता दिवस का आयोजन किया जाएगा। इसमें सुरक्षाबल और दिल्ली पुलिस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को
गार्ड ऑफ ऑनर देंगे। इसके अलावा प्रधानमंत्री तिरंगा फहराएंगे। इसके बाद राष्ट्रगान होगा और 21 तोपों से सलामी दी
जाएगी।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहां से देश को संबोधित करेंगे। इसके बाद राष्ट्रगान होगा और ट्राइ कलर के गुब्बारे छोड़े
जाएंगे। राष्ट्रपति भवन में एट होम रिसेप्शन होगा।

Follow Us